Home न्यूज़ भीषण गर्मी का कहर: IMD का अलर्ट, दोपहर 12 से 3 बजे तक घर में रहें सुरक्षित

भीषण गर्मी का कहर: IMD का अलर्ट, दोपहर 12 से 3 बजे तक घर में रहें सुरक्षित

by Aajtalk
41 views
IMD का अलर्ट

भीषण गर्मी का कहर: IMD का अलर्ट, दोपहर 12 से 3 बजे तक घर में रहें सुरक्षित

25 मई 2024, नई दिल्ली – देशभर में इस समय भीषण गर्मी का कहर जारी है। भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने इस संदर्भ में अलर्ट जारी किया है। IMD ने लोगों से अपील की है कि वे दोपहर 12 बजे से 3 बजे के बीच बाहर ना निकलें। इस दौरान तापमान खतरनाक स्तर पर पहुंच सकता है, जिससे स्वास्थ्य संबंधी गंभीर समस्याएं हो सकती हैं।

गर्मी का प्रभाव

देश के कई हिस्सों में तापमान 46.9 डिग्री सेल्सियस से ऊपर जा रहा है। राजस्थान, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, बिहार, मध्य प्रदेश और महाराष्ट्र जैसे राज्यों में स्थिति और भी गंभीर है। इन राज्यों में हीट वेव की स्थिति बनी हुई है। IMD ने इन राज्यों के लिए रेड अलर्ट जारी किया है।

स्वास्थ्य पर असर

जानकारों का कहना है कि इस प्रकार की गर्मी स्वास्थ्य के लिए बेहद खतरनाक है। खासकर बच्चों, बुजुर्गों और गर्भवती महिलाओं को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। गर्मी से होने वाली बीमारियों में हीट स्ट्रोक, डिहाइड्रेशन और सनबर्न शामिल हैं। हीट स्ट्रोक के लक्षणों में सिर दर्द, चक्कर आना, कमजोरी और बुखार शामिल हैं। डिहाइड्रेशन से बचने के लिए ज्यादा से ज्यादा पानी पीना चाहिए।

आवश्यक कदम

IMD ने कुछ महत्वपूर्ण सुझाव भी दिए हैं, जिन्हें अपनाकर इस भीषण गर्मी से बचा जा सकता है:

  1. पानी का सेवन: रोजाना कम से कम 8-10 गिलास पानी पीना चाहिए। इससे शरीर में पानी की कमी नहीं होगी।
  2. हल्के कपड़े पहनें: सूती और हल्के रंग के कपड़े पहनें, ताकि शरीर को ठंडक मिल सके।
  3. धूप से बचें: सीधे धूप में जाने से बचें। अगर बाहर जाना जरूरी है, तो सिर पर टोपी या छाता जरूर रखें।
  4. खान-पान: हल्का और पौष्टिक खाना खाएं। तली-भुनी चीजों से परहेज करें।
  5. घर में रहें: जहां तक हो सके, घर के अंदर ही रहें। विशेषकर दोपहर 12 से 3 बजे के बीच बाहर जाने से बचें।

सरकारी प्रयास

सरकार भी इस भीषण गर्मी से निपटने के लिए कई कदम उठा रही है। विभिन्न राज्य सरकारों ने अपने-अपने स्तर पर अलर्ट जारी किए हैं और लोगों को सुरक्षित रखने के उपाय किए जा रहे हैं। सार्वजनिक स्थानों पर पानी की व्यवस्था की जा रही है। अस्पतालों में भी विशेष इंतजाम किए गए हैं ताकि हीट स्ट्रोक और अन्य गर्मी से संबंधित बीमारियों का इलाज तुरंत हो सके।

कृषि पर प्रभाव

इस भीषण गर्मी का असर कृषि पर भी पड़ रहा है। फसलों को पानी की कमी का सामना करना पड़ रहा है। कई क्षेत्रों में सूखा जैसी स्थिति बन गई है। किसान परेशान हैं और उन्हें अपनी फसल बचाने में कठिनाई हो रही है। सरकार किसानों को भी मदद पहुंचाने के लिए प्रयासरत है। कृषि विशेषज्ञों का कहना है कि यदि समय पर बारिश नहीं हुई तो फसलों को भारी नुकसान हो सकता है।

नागरिकों की प्रतिक्रियाएँ

भीषण गर्मी को लेकर नागरिक भी परेशान हैं। लोगों का कहना है कि इस साल गर्मी ने सारे रिकॉर्ड तोड़ दिए हैं। बच्चों की स्कूल छुट्टियाँ पहले ही शुरू कर दी गई हैं। कई जगहों पर काम के घंटे भी कम कर दिए गए हैं। ऑफिस और घरों में एसी और कूलर की मांग बढ़ गई है।

राहत के उपाय

मौसम विभाग का कहना है कि फिलहाल कुछ दिन और गर्मी से राहत मिलने की संभावना नहीं है। मानसून के आगमन तक स्थिति ऐसी ही बनी रह सकती है। हालांकि, उम्मीद जताई जा रही है कि जून के पहले सप्ताह में मानसून दस्तक दे सकता है। इससे गर्मी से कुछ राहत मिल सकती है।

भीषण गर्मी से निपटने के लिए सभी को सावधानी बरतनी होगी। IMD की सलाहों का पालन करें और अपनी सेहत का ध्यान रखें। गर्मी से बचाव के लिए जितना हो सके, उतना पानी पिएं और धूप में जाने से बचें। विशेषकर दोपहर 12 से 3 बजे के बीच बाहर निकलने से परहेज करें। गर्मी से बचने के उपाय अपनाकर ही हम सुरक्षित रह सकते हैं।

अगर आपको ये न्यूज़ पसंद आई तो इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें. Ajtalk.com को अपना बहुमूल्य समय देने के लिए धन्यवाद।

You may also like

Leave a Comment

About Us

AajTalk: Hindi news (हिंदी समाचार) website, watch live tv coverages, Latest Khabar, Breaking news in Hindi of India, World, Sports, business, film and Entertainment. आज तक पर पढ़ें ताजा समाचार देश और दुनिया से, जाने व्यापार …

@2024 – All Right Reserved. Designed and Developed by Talkaaj