Home न्यूज़ राजकोट का TRP Gaming Zone हादसा: आग में 9 बच्चों सहित 24 लोगों की जान गई | Rajkot Trp Gaming Zone Fire

राजकोट का TRP Gaming Zone हादसा: आग में 9 बच्चों सहित 24 लोगों की जान गई | Rajkot Trp Gaming Zone Fire

by Aajtalk
28 views
TRP Gaming Zone

Rajkot Trp Gaming Zone Fire | राजकोट का TRP Gaming Zone हादसा: आग में 9 बच्चों सहित 24 लोगों की जान गई

राजकोट, 25 मई 2024 – राजकोट के TRP गेमिंग जोन में लगी भीषण आग में अब तक 24 लोगों की मौत हो चुकी है। इन 24 मृतकों में 9 बच्चे भी शामिल हैं। यह घटना 24 मई 2024 की शाम को हुई थी। जब यह हादसा हुआ, तब गेमिंग जोन में बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे।

घटना का विवरण

TRP गेमिंग जोन राजकोट का एक लोकप्रिय गेमिंग सेंटर है। यह जगह बच्चों और युवाओं के बीच बेहद लोकप्रिय है। यहाँ पर वीडियो गेम्स, वर्चुअल रियलिटी गेम्स और अन्य मनोरंजन की सुविधाएं उपलब्ध हैं।

24 मई की शाम को यहाँ एक बड़ी भीड़ थी। बच्चे और युवा गेमिंग में व्यस्त थे। अचानक आग लग गई। आग की लपटें तेजी से फैलने लगीं। गेमिंग जोन में भगदड़ मच गई। लोग जान बचाने के लिए इधर-उधर भागने लगे।

आग का कारण

फायर डिपार्टमेंट के अधिकारियों के अनुसार, आग शॉर्ट सर्किट के कारण लगी। गेमिंग जोन में बिजली की तारों में शॉर्ट सर्किट हुआ। इसके बाद आग तेजी से फैलने लगी। सुरक्षा के पर्याप्त इंतजाम नहीं होने के कारण आग पर काबू पाना मुश्किल हो गया।

राहत और बचाव कार्य

घटना के तुरंत बाद, फायर ब्रिगेड और पुलिस मौके पर पहुँची। राहत और बचाव कार्य शुरू किए गए। लेकिन आग इतनी भीषण थी कि उस पर काबू पाने में काफी समय लगा।

दमकल कर्मियों ने कड़ी मेहनत से आग बुझाई। लेकिन तब तक बहुत नुकसान हो चुका था। 24 लोगों की मौत हो चुकी थी। 9 बच्चों ने भी अपनी जान गंवाई। कई लोग घायल हो गए। घायलों को तुरंत अस्पताल पहुँचाया गया।

प्रत्यक्षदर्शियों का बयान

घटना के प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि आग लगते ही पूरे गेमिंग जोन में अफरातफरी मच गई। बच्चों और युवाओं ने चिल्लाना शुरू कर दिया। बहुत से लोग धुएँ के कारण बेहोश हो गए। कुछ लोग आग की चपेट में आ गए।

एक प्रत्यक्षदर्शी ने बताया, “हमने पहले धुआँ देखा, फिर अचानक आग की लपटें उठने लगीं। हमने बचने की कोशिश की, लेकिन बाहर निकलने का रास्ता नहीं मिल पाया।”

प्रशासन की प्रतिक्रिया

राजकोट के जिला प्रशासन ने इस घटना पर गहरा शोक व्यक्त किया है। जिला कलेक्टर ने कहा कि इस घटना की जांच की जाएगी। प्रशासन ने मृतकों के परिवारों को आर्थिक सहायता देने की घोषणा की है।

राजकोट के पुलिस अधीक्षक ने कहा, “हम इस घटना की पूरी जांच करेंगे। दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी। सुरक्षा मानकों की अनदेखी किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं की जाएगी।”

सुरक्षा मानकों पर सवाल

इस घटना ने सुरक्षा मानकों पर सवाल खड़े कर दिए हैं। TRP गेमिंग जोन में आग बुझाने के पर्याप्त इंतजाम नहीं थे। वहां पर आग से बचाव के उपकरण भी नहीं थे।

विशेषज्ञों का कहना है कि ऐसी जगहों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए। आग से बचाव के उपायों का पालन करना अनिवार्य है।

मृतकों के परिवारों का दुख

मृतकों के परिवारों पर दुखों का पहाड़ टूट पड़ा है। एक मृतक के पिता ने कहा, “मेरा बेटा गेमिंग जोन में खेलने गया था। हमें क्या पता था कि यह उसकी आखिरी खेल होगी।”

एक और पीड़ित की माँ ने कहा, “मेरा बच्चा बहुत खुश था। वह दोस्तों के साथ खेलने गया था। अब वह हमें छोड़कर चला गया।”

सरकार का रुख

इस हादसे के बाद, राज्य सरकार ने सभी गेमिंग जोन और मनोरंजन स्थलों की सुरक्षा जांच के आदेश दिए हैं। मुख्यमंत्री ने कहा, “हम ऐसी घटनाओं की पुनरावृत्ति नहीं होने देंगे। सभी जगहों की सुरक्षा मानकों की समीक्षा की जाएगी।”

राजकोट के TRP गेमिंग जोन की आग ने पूरे शहर को हिला कर रख दिया है। इस हादसे ने सुरक्षा मानकों की अनदेखी के खतरों को उजागर किया है। अब प्रशासन और सरकार को मिलकर ऐसे हादसों को रोकने के उपाय करने होंगे। मृतकों के परिवारों को न्याय मिलना चाहिए और दोषियों को सजा।

यह घटना एक कड़ी चेतावनी है कि सुरक्षा से समझौता नहीं किया जा सकता। ऐसे हादसे भविष्य में न हों, इसके लिए हमें सतर्क और जागरूक रहना होगा। मृतकों की आत्मा को शांति मिले और उनके परिवारों को इस दुख की घड़ी में संबल प्राप्त हो।

हमें उम्मीद है कि आपको इस आर्टिकल से अच्छी जानकारी मिली होगी, इसे अपने दोस्तों के साथ शेयर करें ताकि उन्हें भी अच्छी जानकारी मिल सके।

You may also like

Leave a Comment

About Us

AajTalk: Hindi news (हिंदी समाचार) website, watch live tv coverages, Latest Khabar, Breaking news in Hindi of India, World, Sports, business, film and Entertainment. आज तक पर पढ़ें ताजा समाचार देश और दुनिया से, जाने व्यापार …

@2024 – All Right Reserved. Designed and Developed by Talkaaj